Reasoning Question,Math Question,Current Affairs,Computer Course,English Couse,Question

rajya rajdhani with details


Category : gk-books


*भारत के राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेश राजधानियों सहित .

Disclaimer

राज्यों का एक संघ भारत, संसदीय प्रणाली वाला एक संप्रभु समाजवादी धर्मनिरपेक्ष लोकतांत्रिक गणतंत्र है। भारत के संविधान को संविधान सभा ने 26 नवंबर 1949 को अपनाया था और यह 26 जनवरी 1950 को लागू हुआ था। भारत में 29 राज्य और 7 केंद्र शासित प्रदेश शामिल थे ।  लेकिन मोदी सरकार के नए फैसले के बाद देश में राज्‍यों की संख्‍या घटकर 28 रह जाएगी और केंद्र शासित प्रदेशों की संख्‍या बढ़कर 9 हो जाएगी।

भारतीय राज्यों की सीमाओं को भाषाई आधार के साथ पुनर्गठित करने में राज्य पुनर्गठन अधिनियम ने अहम भूमिका निभाई। साथ ही इसने भारतीय संविधान में संशोधन किया जिससे तीन प्रकार के राज्य ए, बी, और सी राज्यों को एक ही प्रकार में संशोधित किया गया। हालांकि 1947 के बाद से राज्यों की सीमाओं में कई अतिरिक्त बदलाव हुए पर इस अधिनियम को भारतीय राज्यों का वर्तमान आकार और आकृति देने के लिए निर्विवाद खिलाड़ी माना जाता है। नवंबर 2000 में भारत में तीन नए राज्य बने - मध्य प्रदेश से छत्तीसगढ़ बना, उत्तरप्रदेश से उत्तरांचल और बिहार से झारखंड बना।

संविधान ने संसद और राज्य विधानसभाओं को विधायी शक्तियां बांटी हैं। संसद दो सदनों वाली है - निचले सदन को लोकसभा और उपरी सदन को राज्यसभा कहते हैं। राज्य स्तर पर कुछ विधानसभाएं दो सदनों वाली होती हैं और राष्ट्रीय संसद की तर्ज पर काम करती हैं।

इस धरती को सभी मामलों में आशीर्वाद प्राप्त है चाहे टोपोग्राफी हो, प्राकृतिक सुंदरता, आबादी, धर्म, संस्कृति या भाषा। भारत में 29 राज्य और 7 केंद्र शासित प्रदेश हैं। सभी राज्य और केंद्र शासित प्रदेश अपने आप में अनूठे हैं। अपने असाधारण इतिहास और संस्कृति के साथ भारत के यह सभी राज्य और केंद्र शासित प्रदेश सैलानियों को अपने रहस्यों और करिश्मों से आकर्षित करने में असफल नहीं होते।

 

भारत के राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेश और उनकी भाषाएँ तथा राजधानियाँ

 

राज्य राजधानी क्षेत्रफल जनसंख्या  भाषाएँ जिले
आंध्र प्रदेश हैदराबाद
अमरावती
160,205 वर्ग किमी 4,93,78,776 तेलुगु 13
अरुणाचल प्रदेश ईटानगर 83,743 वर्ग किमी 1,382,611 अंग्रेजी 17
असम  दिसपुर 78,438 वर्ग किमी 31,169,272 असमिया 27
बिहार पटना 94,163 वर्ग किमी 103,804,637 हिन्दी 38
छत्तीसगढ़ रायपुर 135,191 वर्ग किमी 25,540,196 छत्तीसगढ़ी 27
गोवा पणजी 3,702 वर्ग किमी 1,457,723 कोंकणी 2
गुजरात गाँधीनगर 196,024 वर्ग किमी 60,383,628 गुजराती 33
हरियाणा चण्डीगढ़ 44,212 वर्ग किमी 25,353,081 हरयाणवी 21
हिमाचल प्रदेश शिमला 55,673 वर्ग किमी 6,856,509 हिन्दी 12
झारखंड राँची 79,714 वर्ग किमी 32,966,238 हिन्दी 24
कर्नाटक बंगलौर 191,791 वर्ग किमी 61,130,704 कन्नड़ 30
केरल तिरुवनन्तपुरम 38,863 वर्ग किमी 33,387,677 मलयालम 14
मध्य प्रदेश भोपाल 308,245 वर्ग किमी 72,597,565 हिन्दी 50
महाराष्ट्र मुम्बई 307,713 वर्ग किमी 112,372,972 मराठी 35
मणिपुर  इम्फाल 22,327 वर्ग किमी 2,721,756 मणिपुरी 9
मेघालय शिलांग 22,429 वर्ग किमी 2,964,007 अंग्रेजी 11
मिजोरम आइज़ोल 21,081 वर्ग किमी 1,091,014 मिजो 8
नागालैंड कोहिमा 16,579 वर्ग किमी 1,980,602 अंग्रेजी 11
उड़ीसा भुवनेश्वर 155,707 वर्ग किमी 41,947,358 ओरिया 30
पंजाब चण्डीगढ़ 50,362 वर्ग किमी 27,704,236 पंजाबी 22
राजस्थान जयपुर 342,239 वर्ग किमी 68,621,012 हिन्दी 33
सिक्किम गान्तोक 7,096 वर्ग किमी 607,688 नेपाली 4
तमिलनाडु चेन्नई 130,058 वर्ग किमी 72,138,958 तमिल 32
तेलंगाना हैदराबाद 114,840 वर्ग किमी 3,52,86,757 तमिल 10
त्रिपुरा अगरतला 10,486 वर्ग किमी 3,671,032 बंगाली 8
उत्तर प्रदेश  लखनऊ 240,928 वर्ग किमी 199,581,477 हिन्दी 75
उत्तराखंड देहरादून 53,483 वर्ग किमी 10,116,752 हिन्दी 13
पश्चिम बंगाल कोलकाता 88,752 वर्ग किमी 91,347,736 बंगाली 19
केन्द्र शासित प्रदेश राजधानी क्षेत्रफल जनसंख्या  भाषाएँ जिले
अंडमान और निकोबार पोर्ट ब्लेयर 8,249 वर्ग किमी 379,944 अंग्रेजी 3
चंडीगढ़ चण्डीगढ़ 114 वर्ग किमी 1,054,686 पंजाबी 1
दादरा और नागर हवेली  सिलवास 491 वर्ग किमी 342,853 अंग्रेजी 1
दमन और दीव  दमन 112 वर्ग किमी 242,911 कोंकणी, मराठी व गुजराती 2
दिल्ली नई दिल्ली 11,297 वर्ग किमी 16,753,235 हिन्दी, पंजाबी व उर्दू 9
लक्षद्वीप कवरत्ती 32 वर्ग किमी 64,429 अंग्रेजी 1
जम्मू और कश्मीर श्रीनगर (ग्रीष्म) जम्मू (शीत) 222,236 वर्ग किमी 12,548,926 उर्दू 22
पुडुचेरी पॉन्डिचेरी 479 वर्ग किमी 1,244,464 तमिल, अंग्रेजी 4
लद्दाख़ लेह 97,776 प्रति वर्ग किमी 133,487 लद्दाखी  


अंडमान और निकोबार द्वीप समूह
‘एम्राल्ड आइल्स’ के तौर पर लोकप्रिय और बंगाल की खाड़ी में स्थित अंडमान और निकोबार द्वीप समूह भारत का एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है। इस केंद्र शासित प्रदेश में कई आदिवासी जनजातियां हैं और दो विशेष संस्कृतियां हैं - अंडमान और निगरिटो। यहां के लोग मैत्रीपूर्ण और खुशनुमा होते हैं और अंडमान और निकोबार के लोगों में जो त्यौहार मनाए जाते हैं उनमें पंगुनी, उथिरम, पोंगल, शिवरात्रि, जन्माष्टमी आदि हैं। इस केंद्र शासित प्रदेश के लोकप्रिय पर्यटन स्थलों में राष्ट्रीय स्मारक, मरीन संग्रहालय, नौसेना समुद्री संग्रहालय, स्मृथिका संग्रहालय, हड्डो ज़ूलाॅजिकल गार्डन शामिल हंै।

 

आंध्र प्रदेश
आंध्र प्रदेश भारत के दक्षिण क्षेत्र में स्थित राज्य है और यह अपनी अलग संस्कृति और कला के लिए जाना जाता है। राज्य में ज्यादातर आबादी तेलगु बोलती है। राज्य में मनाए जाने वाले खास त्यौहारों में दशहरा, दीपावली, श्री रामनवमीं, विनायक संक्राति और चविथि हैं। इस राज्य में जरुर देखी जाने वाली जगहों में तिरुपति में वेंकेटेश्वर भगवान का मंदिर, नागार्जुनसागर में नागार्जुन कोंडा, विशाखापतनम में अराकू घाटी और बोररा गुफाएं, विजयवाड़ा में अमरावती आदि हैं।

अरुणाचल प्रदेश
अरुणाचल प्रदेश को भारत के सबसे आकर्षक राज्य का दर्जा मिला हुआ है और यहां विशाल पर्वत और बर्फ से ढंकी चोटियां हैं। यहां कई जनजातियां और उप जनजातियां हैं। अरुणाचल प्रदेश की ज्यादातर आबादी एशियाई मूल की है। इस राज्य की सबसे अनूठी बात इसका जीववाद में विश्वास है। इस खूबसूरत राज्य में कई लोकप्रिय पर्यटन केंद्र हैं, जैसे सिन्यी बोमडिला, तवांग और ग्याकर।

असम
भारत के पूर्वोत्तर में स्थित असम प्राकृतिक सुंदरता से भरपूर है। असम की आबादी में तिब्बती, आर्य और बर्मन मूल के लोगों का मिश्रण है। असम की जनसंख्या में कई जनजातियां शामिल हैं जो सभी त्यौहार समान उत्साह से मनाती हैं। हालांकि असम का सबसे लोकप्रिय त्यौहार बीहू है। पिछले कुछ सालों में असम एक महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल के तौर पर उभरा है। गांधी मंडप, कामाख्या मंदिर, उमानंदा, नबग्रह, राज्य ज़ू, राज्य संग्रहालय आदि यहां के प्रमुख आकर्षण हैं।

बिहार
पूर्वी भारत में स्थित बिहार समृद्ध सांस्कृतिक विरासत से भरपूर है जो प्राचीन काल तक जाती है। बिहार के लोग जीवंत होते हैं और शांति और सद्भाव से रहते हैं। राज्य में मनाए जाने वाले त्यौहारों में बुद्ध पूर्णिमा, सरस्वती पूजा, ईद-उल-फितर, होली, रथ यात्रा, महाशिवरात्री और महावीर जयंती शामिल हैं।

चंडीगढ़
आजादी के बाद का पहला सुनियोजित शहर चंडीगढ़ एक केंद्र शासित प्रदेश है और पंजाब और हरियाणा इन दो राज्यों की राजधानी है। सरकारी सर्वे के अनुसार यह शहर देश का सबसे साफ सुथरा शहर है। सैलानियों के लिए यहां कई आकर्षण हैं जिनमें बाग खास हैं। चंडीगढ़ के कई आकर्षणों में राॅक गार्डन, रोज़ गार्डन, सुखना झील और लैश्योर वैली आदि हैं। चंडीगढ़ कई प्रसिद्ध हस्तियों का जन्मस्थल रहा है जैसे मिल्खा सिंह, कपिल देव, अभिनव बिंद्रा और किरण खेर आदि।

छत्तीसगढ़
छत्तीसगढ़ मध्य भारत में स्थित राज्य है और बिजली और स्टील के स्रोत के रुप में मशहूर है। यह राज्य समृद्ध सांस्कृतिक विरासत से भरपूर है और सैलानियों को अपनी ओर आकर्षित करता है। राज्य के झरने, वन्यजीव अभयारण्य और राष्ट्रीय पार्क तथा गुफाएं छत्तीसगढ़ का मुख्य आकर्षण हैं।

दादरा और नागर हवेली
भारत के पश्चिमी तट के पास स्थित दादरा और नागर हवेली में शर्मीले और साधारण आदिवासी रहते हैं। एक महत्वपूर्ण पर्यटन हब के तौर पर उभरते इस केंद्र शासित प्रदेश में कई पर्यटन स्थल हैं।

दमन और दीव
दमन और दीव भारत का एक केंद्र शासित प्रदेश है और गुजरात के पास अरब सागर में स्थित है। यह विविध संस्कृतियों से भरी जगह है। दमन के लोगों के लिए नृत्य और संगीत रोजमर्रा के जीवन का हिस्सा हैं। यहां कई संस्कृतियां मौजूद हैं, जैसे शहरी यूरोपीय, भारतीय और आदिवासी। इस केंद्र शासित प्रदेश के चर्च और समुद्र तट सबसे बड़ा पर्यटन आकर्षण हैं।

गोवा
भारत के मालाबार तट पर स्थित गोवा यकीनन भारत का सबसे अच्छा बीच रिसाॅर्ट है। हिंदू और ईसाई के मिश्रण की आबादी वाले गोवा की संस्कृति अपने आप में बहुत अनूठी है। इसे भारत का सबसे हैपनिंग राज्य माना जाता है और यहां बहुत ही सरल और आनंदप्रेमी लोग रहते हैं। इस राज्य का मुख्य आकर्षण यहां के लंबे समुद्र तट हैं। इस राज्य में लोग चर्च, संग्रहालय और समुद्र तटों का सबसे ज्यादा दौरा करते हैं। गोवा की वास्तुकला में भारतीय, पुर्तगाली और इस्लामिक वास्तुकला का मिश्रण है। गोवा की प्रमुख बीचों में कोल्वा, वागातोर, कलानगुत, हरमल, अंजुना, बागा और मीरमार शामिल हैं।

गुजरात
‘पश्चिम का आभूषण’ के तौर पर मशहूर गुजरात भारत के पश्चिमी भाग में स्थित है। यह ऐतिहासिक तौर पर सिंधु घाटी सभ्यता का मुख्य केंद्र था। इस राज्य की विविध संस्कृृति का पता इसी से चलता है कि यहां प्रमुख हिंदू त्यौहारों के अलावा अन्य त्यौहार जैसे ईद, महावीर जयंती और क्रिसमस आदि भी उतने ही उत्साह से मनाए जाते हैं। नृत्य और संगीत गुजरातियों के जीवन का अहम हिस्सा है। गरबा और डांडिया इस राज्य के मुख्य नृत्य रुप हैं। लाट टोडी और खंबावती जैसे रागों का जन्म इसी राज्य में हुआ था।

हरियाणा
हरियाणा का गठन पंजाब से अलग करके किया गया और 1 नवंबर 1966 को इसे अलग राज्य का दर्जा दिया गया। भारत के इतिहास में हरियाणा का बहुत अहम योगदान है। इस राज्य में कई ऐसी जगहें हैं जो सिंधु घाटी सभ्यता और वैदिक सभ्यता से संबंधित हैं। भारतीय इतिहास की बड़ी बड़ी लड़ाइयां इस राज्य में लड़ी गई हैं। राज्य के लोगों ने आज भी अपनी पुरानी संस्कृति और सामाजिक रीति रिवाज जिंदा रखे हैं। कई रुचिपूर्ण स्थानों के कारण यह राज्य अब एक टूरिस्ट हब है। हरियाणा में कई राष्ट्रीय स्तर के खिलाडि़यों का जन्म हुआ है, जैसे विजेंदर सिंह बेनीवाल, सुशील कुमार, साइना नेहवाल, अजय जडेजा और अन्य कई।

 

हिमाचल प्रदेश
हिमाचल प्रदेश एक लोकप्रिय राज्य है और यह अपनी सुंदरता और भव्यता के लिए जाना जाता है। पहले इसे ‘देवभूमि’ के नाम से जाना जाता था, जिसका अर्थ ‘भगवान की धरती’ होता है। यह एक टूरिस्ट हब है और दुनिया के अलग अलग हिस्सों से यहां पर्यटक आते हैं। इस राज्य का मुख्य आकर्षण एडवेंचर खेल हैं जिनमें पैराग्लाइडिंग, आइस स्केटिंग, राफ्टिंग और अन्य कई शामिल हैं। इसके अलावा देश में कई त्यौहार और मेले मनाए जाते हैं जिनमें से कुछ विशेष तौर पर इस राज्य से ताल्लुक रखते हैं।

जम्मू और कश्मीर
जम्मू और कश्मीर को भारतीय संविधान के अनुच्छेद 370 के तहत स्वायत्ता मिली हुई है। इसमें तीन क्षेत्र शामिल हैं - जम्मू, कश्मीर घाटी और लद््दाख। कश्मीर घाटी को धरती का स्वर्ग कहा जाता है और यहां बड़ी संख्या में सैलानी आते हैं। कई हिंदू सैलानी जम्मू और कश्मीर का दौरा करते हैं क्योंकि यहां वैष्णों देवी और अमरनाथ जैसे धार्मिक स्थल हैं। इस क्षेत्र में विभिन्न धर्मों के लोग रहते हैं इसलिए यहां विभिन्न समुदायों के त्यौहार समान उत्साह से मनाए जाते हैं, जैसे ईद, बैसाखी, हेमिस त्यौहार, उर्स, दीपावली और अन्य कई।

झारखंड
झारखंड को ‘वन की भूमि’ भी कहा जाता है और यह माइका, बाॅक्साइट, लौह, कोयला, तांबा आदि खनिजों से समृद्ध है। यह एक आदिवासी बहुल राज्य है और यहां के लोग प्रकृति को जीवन का बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा मानते हैं। इस राज्य के लोगों द्वारा मनाए जाने वाले त्यौहारों में तुसु मेला, करम त्यौहार और सोहरानी शामिल हैं। रांची हिल, नेतरहट, सूर्य मंदिर, बैद्यनाथ धाम इस राज्य की कुछ रुचिकर जगहें हैं।

कर्नाटक
कर्नाटक दक्षिण पश्चिम भारत में स्थित है और अरब सागर और लक्षद्वीप सागर से घिरा है और इसके पश्चिम में कई पड़ोसी राज्य हैं। भाषा और धर्म के आधार पर यहां कई जातियां रहती हैं। प्राचीन मंदिर, आकर्षक पर्वत, आधुनिक बुनियादी सुविधाएं, समुद्र तट और जंगल जैसी कई चीजें कर्नाटक में विस्तृत तौर पर उपलब्ध हैं। इस राज्य में मनाए जाने वाले प्रमुख त्यौहारों में मैसूर दशहरा, मकर संक्राति, बसव जयंती, रमजान और उगाडि शामिल हैं।

केरल
‘गाॅडस्् ओन कंट्री’ के नाम से मशहूर केरल भारत के दक्षिण पश्चिम में स्थित है। यह मसालों और रबर उत्पादन के लिए जाना जाता है। यह भारत के प्रमुख मछली उत्पादकों में से एक है। इस राज्य की संस्कृति की प्रकृति महानगरीय है और इसकी अपनी विशेष कला, जीवनशैली, वास्तुकला, भाषा और साहित्य है। संगीत और नृत्य इस राज्य का अभिन्न हिस्सा है। नृत्यों की विभिन्न शैलियां जैसे कथकली, कूडियाट््टम, मोहिनीअट््टम और कर्नाटक संगीत केरलियों के बीच बहुत अहम स्थान रखते हैं। सैलानियों के बीच भारत में केरल सबसे पसंदीदा पर्यटन स्थल है। लोग इस राज्य में समुद्र तट, मंदिर, चर्च और वन्यजीव अभयारण्यों का सबसे ज्यादा दौरा करते हैं।

लक्षद्वीप
लक्षद्वीप, लक्षद्वीप सागर में द्वीपों का एक समूह है और भारत का सबसे छोटा केंद्र शासित प्रदेश है। लक्षद्वीप में कई धर्म और रिवाज़ माने जाते हैं लेकिन यहां की ज्यादातर आबादी इस्लाम धर्म का पालन करती है। यहां कई त्यौहार जैसे ईद-उल-फितर, मिलाद-उन-नबी, मुहर्रम और अन्य मनाए जाते हैं। इस केंद्र शासित प्रदेश के लोग सादा जीवन जीते हैं और एक दूसरे के साथ सदभाव से रहते हैं। इस द्वीपसमूह में सैलानियों के लिए कई वाॅटर स्पोटर््स हैं, जैसे स्नोर्कलिंग और स्कूबा डायविंग।

मध्य प्रदेश
मध्य प्रदेश, मध्य भारत में स्थित है और इसकी भौगोलिक स्थिति के कारण इसे भारत का दिल भी कहा जाता है। इस राज्य में कई जनजातियां, जातियां और जाति समूह हैं और राज्य की ज्यादातर आबादी हिंदू धर्म का पालन करती है। मध्य प्रदेश के लोगों के बीच लोक और शास्त्रीय संगीत बहुत महत्वपूर्ण स्थान रखता है। मैहर घराना, सेनिया घराना और ग्वालियर घराना इस राज्य के कुछ प्रमुख शास्त्रीय संगीत घराने हैं। मध्य प्रदेश में वन्य प्रेमियों के लिए वन्यजीव अभयारण्य और राष्ट्रीय पार्कों के रुप में कई सौगातें हैं। केरेरा वन्यजीव अभयारण्य, बांधवगढ़ राष्ट्रीय पार्क और कान्हा राष्ट्रीय पार्क इस राज्य में सबसे ज्यादा घूमी जाने वाली जगहें हैं।

महाराष्ट्र
देश के पश्चिमी क्षेत्र में स्थित महाराष्ट्र भारत का दूसरा सबसे ज्यादा आबादी वाला राज्य है। ऐतिहासिक तौर पर महाराष्ट्र तीसरी सदी से मौजूद है और आज तक औद्योगिक, व्यवसायिक और व्यापार हब है। इस राज्य में मराठी और हिंदी फिल्म उद्योग मौजूद है जो बड़ी संख्या में लोगों को अपनी ओर आकर्षित करता है। गणेश चतुर्थी का त्यौहार यहां पूरे उत्साह और धूमधाम से मनाया जाता है। इस राज्य में मनाए जाने वाले अन्य त्यौहारों में होली, दीपावली, ईद और क्रिसमस हैं। इन धार्मिक त्यौहारों के अलावा यहां अजंता एलोरा फेस्टीवल और एलिफेंटा फेस्टीवल भी लोगों के बीच प्रमुख है। कई रुचिपूर्ण जगह होने के कारण महाराष्ट्र में बड़ी संख्या में सैलानी आते हंै।

मणिपुर
मणिपुर भारत के पूर्वोत्तर भाग मेें स्थित है। कई संस्कृतियों जैसे मीजो, कुकी, नागा के लोग मणिपुर में रहते हैं। मणिपुर के लोगों का स्वभाव बहुत मिलनसार होता है और राज्य की महिलाएं समाज में उंचा दर्जा रखती हैं। राज्य में थियेटर हमेशा से ही लाई हरोबा फेस्टिवल का अहम हिस्सा रहा है। पारंपरिक मणिपुरी नृत्य भगवान कृष्ण और उनकी प्रेयसी राधा की थीम पर आधारित होता है। मणिपुर में सैलानियों को आकर्षित करने के लिए झीलों, द्वीपों, पहाडि़यों, झरनों और गुफाओं जैसा बहुत कुछ है।

मेघालय
मेघालय नाम का मतलब होता है ‘बादलों का घर’। यह राज्य असम और बांग्लादेश से घिरा है। इस राज्य का करीब 70 प्रतिशत इलाका जंगलों से ढंका है और यहां के जंगलों में बहुत ज्यादा बरसात होती है, जिसकी वजह से बहुत किस्मों के वनस्पति और जीव जंतु होते हैं। मेघालय में तीन प्रमुख जनजातियां हैं - जयंतिया, खासी और गारो। झीलें, पहाडि़यां, झरने, बाग और नदियां मेघालय की सुंदरता को और बढ़ाते हैं। यह सब बड़ी संख्या में सैलानियों को अपनी ओर आकर्षित करते हैं।

मिज़ोरम
मिज़ोरम को लोकप्रिय तौर पर ‘लैंड आॅफ हाइलैंडर्स’ भी कहा जाता है और यह पूर्वोत्तर भारत का एक राज्य है। इस राज्य की 95 प्रतिशत आबादी विभिन्न आदिवासी समूहों की है। राज्य की ज्यादातर आबादी ईसाई धर्म का पालन करती है। अल्पसंख्यक आबादी में हिंदू, मुस्लिम और बौद्ध शामिल हैं। संगीत और नृत्य इस राज्य के त्यौहारों और उत्सवों का अभिन्न हिस्सा है। यहां के प्रमुख नृत्य रुपों में चेरव, खुल्लम, चाय शामिल हैं और मिज़ोरम के लोग गिटार या ड्रम जैसे संगीत यंत्र बजाते हैं। मिज़ो लोगों को आमतौर पर लोक संगीत बहुत पसंद होता है।

नागालैंड
नागालैंड भारत के सेवन सिस्टर राज्योें में से एक है। इस राज्य में 16 जनजातियां हैं और हर जनजाति कपड़ों, भाषा और परंपरा के संदर्भ में विशिष्ट है। राज्य का मुख्य धर्म ईसाई धर्म है और राज्य की ज्यादातर आबादी बैपटिस्ट समूह से संबंध रखती है। नागालैंड को त्यौहारों की धरती के तौर पर भी जाना जाता है। इतनी सारी जनजातियों और विभिन्न लोगों के चलते यहां साल भर त्यौहार और उत्सव मनते रहते हैं। अंतर-जनजाति संवाद बढ़ाने के लिए यहां होर्नबिल त्यौहार मनाया जाता है और नागा लोग इसे पूरे उत्साह से मनाते हैं।

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (दिल्ली)
भारत की राजधानी दिल्ली को राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के तौर पर भी जाना जाता है। भारतीय इतिहास में दिल्ली कई राजवंशों और शासकों की राजधानी रही है। दिल्ली ना सिर्फ देश की राजनीतिक राजधानी है बल्कि यह भारतीय सरकार की प्रशासनिक इकाई भी है क्योंकि यहां भारतीय संसद और कई मंत्रालय मौजूद हैं। देश के कई हिस्सों से लोगों के आकर बसने के कारण यहां की संस्कृति महानगरीय है। धार्मिक त्यौहारों के अलावा दिल्ली में राष्ट्रीय त्यौहार भी पूरे उत्साह से मनाए जाते हैं।

ओडिशा
ओडिशा को ‘मंदिरों की धरती’ भी कहा जाता है और यह भारत के पूर्वी तट पर स्थित है। प्राचीन काल में ओडिशा मौर्य शासक अशोक के कलिंग शासन के कारण लोकप्रिय हो गया था। संगीत, नृत्य, शिल्प और ऐतिहासिक स्मारक इस राज्य की समृृद्ध संस्कृति और परंपरा की विशेषताएं हैं। यह हथकरघा वस्त्र और हस्तशिल्प के लिए मशहूर है। पारंपरिक ओडिशी नृत्य भगवान कृष्ण और उनकी प्रेयसी राधा के प्रेम को दिखाता है। ओडिशा के मंदिर भारत भर में मशहूर हैं और एक बार जरुर देखने लायक हैं। हर साल हजारोें भक्त इस राज्य में जगन्नाथ पुरी की रथ यात्रा देखने आते हैं।

पुडुचेरी
पुडुचेरी को पहले पोंडिचेरी के नाम से जाना जाता था और यह भारतीय और विदेशी लोगों के बीच बहुत मशहूर पर्यटन स्थल है। इसे ‘पूर्व का फ्रेंच रिवेरा’ भी कहा जाता है। इस केंद्र शासित प्रदेश में फ्रांसीसी प्रभाव है क्योंकि यहां लंबे समय तक फ्रांसीसी शासन रहा। फ्रांसीसी बुनियादी ढांचे और फ्रांसीसी काॅलोनियां यहां के प्रमुख आकर्षण हैं। प्राचीन स्मारक, समुद्र तट, बाग और संग्रहालय इस केंद्र शासित प्रदेश की दिलचस्प जगहों में शामिल हैं।

पंजाब
‘पांच नदियों की भूमि’ पंजाब भारत के उत्तर-पश्चिम हिस्से में स्थित है। पंजाब भारत और पाकिस्तान को सीमांकित करता है। यह राज्य पूरी दुनिया में अपनी समृद्ध और रंगारंग संस्कृति के लिए प्रसिद्ध है। पंजाबी अपनी जीवंत और समृद्ध जीवनशैली के लिए जाने जाते हैं। इस राज्य के नृत्य, त्यौहार, लोककथाएं और उत्सव पूरी दुनिया में मशहूर हैं। धार्मिक त्यौहारों के अलावा पंजाब में फसलों के त्यौहार जैसे बैसाखी और लोहड़ी भी पूरे उत्साह और जोश से मनाए जाते हैं। इस राज्य का पर्यटन ज्यादातर ऐतिहासिक स्थानों, युद्ध क्षेत्रों और तीर्थ स्थलों के आसपास घूमता है। अमृतसर स्थित स्वर्ण मंदिर सबसे ज्यादा दौरा की जाने वाली जगह है और दुनिया भर से सैलानी इसे देखने आते हैं।

राजस्थान
इलाके के संदर्भ में राजस्थान भारत में सबसे बड़ा है और इसे ‘राजाओं की धरती’ भी कहा जाता है। इसकी सीमाएं कई राज्यों से जुड़ी हैं, जैसे पंजाब, गुजरात, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश और हरियाणा। इस राज्य की संस्कृति बहुत समृद्ध और कलात्मक है। इस राज्य के कालबेलिया और घूमर जैसे नृत्य अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचाने जाते हैं। यहां मनाए जाने वाले धार्मिक त्यौहारों में दीपावली, होली, तीज, गणगौर और मकर संक्राति शामिल हैं। राजस्थान की शाही शान और समृद्धि हर साल बड़ी संख्या में सैलानियों को अपनी ओर आकर्षित करती है। इस राज्य के सबसे आकर्षक स्थानों में महल, किले, मंदिर और थार रेगिस्तान शामिल हैं।

सिक्किम
सिक्किम पूर्वोत्तर भारत का एक राज्य है और देश का सबसे कम आबादी वाला राज्य है। सिक्किम की सीमाएं तीन राज्यों से जुड़ी हैं चीन, भूटान और नेपाल। यहां की संस्कृति में हिंदू और बौद्ध धर्म का मिश्रण है। यहां कई बौद्ध त्यौहार जैसे लूसूंग, सेशी, अबसोल, दसेन आदि राज्य के हर भाग में व्यापक तौर पर मनाए जाते हैं। सिक्किम के लोग उत्सवों में नाच और संगीत का भरपूर मज़ा लेते हैं और उन्हें फुटबाॅल और क्रिकेट भी बहुत पसंद होता है। सैलानियों और प्रकृति प्रेमियों के लिए यह राज्य स्वर्ग है। यहां प्रकृति मां का भरपूर आशीर्वाद है और इस जगह की शांति बड़ी संख्या में सैलानियों को अपनी ओर आकर्षित करती है। राष्ट्रीय पार्क, संग्रहालय, मंदिर और धार्मिक स्थल पर्यटकों के पसंदीदा स्थान हैं।

तमिलनाडु
तमिलनाडु भारत के दक्षिणी छोर के क्षेत्र में स्थित राज्य है और आंध्र प्रदेश, केरल, पुडुचेरी और कर्नाटक जैसे राज्यों से घिरा है। तमिल लोग नृत्य, संगीत और साहित्य के प्रेमी होते हैं। भरतनाट््यम और कर्नाटक संगीत यहां सदियों से रहा है। इस राज्य में मनाए जाने वाले मुख्य त्यौहारों में दीपावली, दशहरा, पोंगल, कार्थिका आदि शामिल हैं। यहां जनवरी के महीने में कर्नाटक संगीत का अनूठा त्यौहार त्यागराज फेस्टिवल मनाया जाता है। तमिलनाडु इस देश के सबसे बड़े पर्यटन उद्योगों में से एक है। यहां के राष्ट्रीय पार्क, मंदिर और धार्मिक स्थल, समुद्र तट, पर्वत और वन्यजीव अभयारण्य सैलानियों के पसंदीदा स्थान हैं।

तेलंगाना
तेलंगाना भारत का 29वां राज्य है जो 2 जून 2014 को अस्तित्व में आया था। इससे पहले यह आंध्र प्रदेश का हिस्सा था और अब इसकी सीमाएं आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ से लगी हैं। इस राज्य की संस्कृति फारसियों, मुगलों और निजाम से प्रेरित है। यहां मनाए जाने वाले कुछ त्यौहारों में दीपावली, गणेश चतुर्थी, ईद-उल-फितर, बकरा ईद शामिल हैं। यहां कुछ त्यौहार हैं जो सिर्फ इस राज्य में मनाए जाते हैं जैसे बटाउकम्मा त्यौहार और लश्कर बोनालू। मंदिर, स्मारक और झरने यहां सबसे बड़ा पर्यटक आकर्षण हैं।

त्रिपुरा
त्रिपुरा भारत के सेवन सिस्टर राज्योें में से एक है और इसकी सीमाएं बांग्लादेश, मिज़ोरम और असम से जुड़ी हैं। त्रिपुरा शब्द का संस्कृत में मतलब होता है ‘तीन शहर’। इस राज्य में कई जातीय समूह हैं, जैसे त्रिपुरी, गारो, मुंडा, ओरन और अन्य कई। इस राज्य में बांस और बेंत के हस्तशिल्प बहुत लोकप्रिय हैं। संगीत और नृत्य इस राज्य की संस्कृति का अभिन्न हिस्सा हैं, यहां अलग अलग मौकों के लिए लोगों के पास संगीत और नृत्य होता है। झूम नाच, लेबनाग नाच, ममीता नाच इस राज्य की कुछ लोकप्रिय नृत्य शैलियां हैं। महल, मंदिर और वन्यजीव अभयारण्य यहां का सबसे बड़ा पर्यटक आकर्षण हैं।

उत्तर प्रदेश
उत्तर प्रदेश का मतलब होता है ‘उत्तरी प्रांत’ और यह भारत के उत्तरी हिस्से में है। यह अपनी सीमाएं दिल्ली, राजस्थान, हरियाणा, उत्तराखंड और अन्य राज्यों से साझा करता है। इस राज्य की संस्कृति की जड़ें कला, साहित्य, इतिहास और परंपरा से जुड़ी हैं। इस राज्य के मुख्य त्यौहार दीपावली, दशहरा, गणेश चतुर्थी, ईद, बुद्ध जयंती और अन्य हैं। इस राज्य में लगने वाले कुंभ मेले में देश भर से बड़ी संख्या में सैलानी आते हैं। आगरा का ताज महल, जो कि विश्व का सातवां अजूबा है, वो दुनिया भर के सैलानियों को अपनी ओर आकर्षित करता है। किले, स्मारक, तीर्थस्थल के रुप में उत्तर प्रदेश के पास सैलानियों के लिए बहुत कुछ है।

उत्तराखंड
उत्तराखंड को ‘देवभूमि’ भी कहा जाता है यह भारत के उत्तर में स्थित एक राज्य है। इस राज्य का समाज विभिन्न जातीय समूहों का जटिल मिश्रण है जिसमें गढ़वाल और कुमाउ क्षेत्र के लोग हैं। संगीत इस राज्य की संस्कृति का अभिन्न हिस्सा है और यहां के लोग त्यौहारों और उत्सवों में लोक गीत गाते हैं। इस राज्य में मनाए जाने वाले त्यौहारों में घी संक्रांति, खतारआ, नंदा देवी मेला, फूल देई और अन्य कई हैं। सैलानियों के लिए उत्तराखंड में कई स्थान हैं, जैसे हिल स्टेशन, तीर्थस्थल, वन्यजीव अभयारण्य और राष्ट्रीय पार्क।

पश्चिम बंगाल
देश के पूर्वोत्तर में स्थित पश्चिम बंगाल तीन अलग अलग देशों घिरा है - नेपाल, बांग्लादेश और भूटान। यह झारखंड, ओडिशा, सिक्किम, असम और बिहार जैसे राज्यों से भी घिरा है। इस राज्य में कई आदिवासी समुदाय हैं, जैसे भूटिया, लेपचाओ, संतल और ओराओ। गोंभिरा और भवैया इस राज्य की प्रमुख नृत्य शैलियां हंै। दुर्गा पूजा इस राज्य का सबसे लोकप्रिय त्यौहार है और सरस्वती पूजा, लक्ष्मी पूजा, पोइला बैसाखी आदि त्यौहार यहां मनाए जाते हैं। दार्जिलिंग और सिलीगुढ़ी जैसे हिल स्टेशन इस राज्य में कई सैलानियों को आकर्षित करते हैं। बंगाल की कुछ मशहूर जगहों में अयोध्या हिल, कूच बिहार पैलेस, इंडियन बाॅटनिकल गार्डन और सुंदरबन नेशनल पार्क शामिल हैं।

लद्दाख़ 

(तिब्बती लिपि: ལ་དྭགས་ ;उर्दू: لدّاخ‎; "ऊंचे दर्रों (passes) की भूमि") उत्तरी भारत का एक केन्द्र शासित प्रदेश है, जो उत्तर में काराकोरम पर्वत और दक्षिण में हिमालय पर्वत के बीच में है। यह भारत के सबसे विरल जनसंख्या वाले भागों में से एक है।

लद्दाख का क्षेत्रफल 97,776 वर्ग किलोमीटर है। इसके उत्तर में चीन तथा पूर्व में तिब्बत की सीमाएँ हैं। सीमावर्ती स्थिति के कारण सामरिक दृष्टि से इसका बड़ा महत्व है। लद्दाख, उत्तर-पश्चिमी हिमालय के पर्वतीय क्रम में आता है, जहाँ का अधिकांश धरातल कृषि योग्य नहीं है। गॉडविन आस्टिन (K2, 8,611 मीटर) और गाशरब्रूम I (8,068 मीटर) सर्वाधिक ऊँची चोटियाँ हैं। यहाँ की जलवायु अत्यंत शुष्क एवं कठोर है। वार्षिक वृष्टि 3.2 इंच तथा वार्षिक औसत ताप 5 डिग्री सें. है। नदियाँ दिन में कुछ ही समय प्रवाहित हो पाती हैं, शेष समय में बर्फ जम जाती है। सिंधु मुख्य नदी है। जिले की राजधानी एवं प्रमुख नगर लेह है, जिसके उत्तर में कराकोरम पर्वत तथा दर्रा है। अधिकांश जनसंख्या घुमक्कड़ है, जिसकी प्रकृति, संस्कार एवं रहन-सहन तिब्बत एवं नेपाल से प्रभावित है। पूर्वी भाग में अधिकांश लोग बौद्ध हैं तथा पश्चिमी भाग में अधिकांश लोग मुसलमान हैं। हेमिस गोंपा बौंद्धों का सबसे बड़ा धार्मिक संस्थान है।

Start Quiz

Tags : rajya rajdhani 2019,rajya rajdhani ki list,desh ki rajdhani,desh ki rajdhani kya hai,bharat desh ki rajdhani,rajya ki rajdhani




,
Home | Contact us | Our Teams | Term and Conditions | Disclaimer | Privacy Policy